मध्यप्रदेश में एच.आई.व्ही. से संक्रमित व्यक्तियों के लिए राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन के दिशा-निर्देशों के अनुसार निःशुल्क एंटी रेट्रोवायरल की दवायें उपलब्ध कराने के लिए ए.आर.टी. केन्द्र स्थापित किये गये हैं। इन ए.आर.टी. केन्द्रों के माध्यम से निःशुल्क सी.डी.4 जांच, परामर्ष व रेफरल सेवायें प्रदान की जाती हैं। इसके साथ ही एचआयव्ही प्रभावित व्यक्तियों में होने वाले अवसरवादी संक्रमणों के उपचार की व्यवस्था भी चिकित्सालयों के माध्यम से की गयी है। ए.आर.टी. केन्द्रों के उद्देश्य :

 
1.एआरटी संबंधी व्यापक सेवाएं उपलब्ध कराना।
2.एचआयव्ही/एड्स से प्रभावित व्यक्तियों में से प्रयोगशाला जांच के माध्यम से एआरटी के लिए पात्र व्यक्तियों को चिन्हित करना। (एचआयव्ही जांच, सीडी4 काउंट एवं अन्य जांचें)|
3.एचआयव्ही/एड्स से प्रभावित पात्र व्यक्तियों निःशुल्क एआरटी की दवाएं उपलब्ध कराना।
4.उपचार के पूर्व व उपचार के दौरान एआरटी एडहेरेन्स को बनाए रखने के लिए परामर्श प्रदान करना।
5.व्यक्तियों व उनके सहायकों/सहयोगियों को पोषण आहार संबंधी आवश्यकता, स्वच्छता एवं संक्रमण को फैलने से रोकने के उपायों पर शिक्षित करना।
6.विशिष्ट सेवाओं के लिए भर्ती करना अथवा रेफर करना।
7.संक्रमण से बचाव की शिक्षा, कण्डोम सहित व्यापक सेवाएं उपलब्ध कराना |
 
एआरटी केन्द्र के कार्य :
1.अवसरवादी संक्रमणों की पहचान व उपचार।
2.एआरटी शुरू करने के लिए पात्र एचआयव्ही प्रभावित व्यक्तियों को चिन्हित करना।
3.एआरटी ले रहे व्यक्ति की निगरानी करना और यदि कोई दुष्प्रभाव है तो उसका प्रबंधन करना।
4.आवश्यकता पड़ने पर अस्पताल में भर्ती सुविधा उपलब्ध कराना।
5.अन्य सेवाओं के साथ जोड़ना।
6.आवश्यकता होने पर देखभाल संबंधी विशिष्ट सेवाओं तक आसान पहुंच बनाना।
7.एचआयव्ही प्रभावित उन व्यक्तियों को मनोवैज्ञानिक सहायता प्रदान करना जो एआरटी केन्द्र पहुंच रहे हैं।
8.एआरटी दवाओं के एडहेरेन्स के लिए परामर्श सेवा प्रदान करना।
9.एचआय.व्ही. प्रभावित व्यक्तियों को निर्धारित पोषण आहार पर शिक्षित करना।
10.संक्रमण का जोखिम कम करने व कण्डोम के उपयोग की सलाह देना।
 
वर्तमान में मध्यप्रदेश में कुल 17 ए.आर.टी. केन्द्र कार्यरत् हैं। ए.आर.टी. केन्द्रों की सूची निम्नानुसार है :
1.महात्मा गांधी स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय इन्दौर
2.नेताजी सुभाषचंद्र बोस चिकित्सा महाविद्यालय जबलपुर
3.गांधी चिकित्सा महाविद्यालय, भोपाल
4.आर.डी. गार्डी चिकित्सा महाविद्यालय उज्जैन (पी.पी.पी. योजनान्तर्गत)
5.श्यामशाह चिकित्सा महाविद्यालय, रीवा
6. गजराराजा चिकित्सा महाविद्यालय, ग्वालियर
7.जिला चिकित्सालय खण्डवा
8.चिकित्सा महाविद्यालय, सागर
9. जिला चिकित्सालय, सिवनी
10. जिला चिकित्सालय, मन्दसौर
11. जिला चिकित्सालय, नीमच
12.जिला चिकित्सालय, बुरहानपुर
13. जिला चिकित्सालय, बड़वानी
14.जिला चिकित्सालय, धार
15. जिला चिकित्सालय, रतलाम
16. जिला चिकित्सालय, बालाघाट
17. जिला चिकित्सालय, शिवपुरी
 
मध्यप्रदेश में वर्तमान में एक एफ.आई.ए.आर.टी. केन्द्र भी कार्यरत् है, जो निम्नानुसार है:-
1.जिला चिकित्सालय, खरगौन