सूचना शिक्षा और संचार गतिविधियां एच.आई.वी/एड्स संबंधी जागरूकता एवं व्यवहार परिवर्तन के उद्देश्य से महत्वपूर्ण हैं।

  • जन सामान्य में एच.आई.वी/एड्स संक्रमण के कारण, बचाव के तरीकों की जानकारी का प्रसार करना आवष्यक सावधानियां अपनाने के प्रति जागरूक करना संचार गतिविधियों का मुख्य उद्देश्य है।
  • एच.आई.वी परामर्श एवं जांच तथा उपचार आदि के लिए उपलब्ध सेवाओं की जानकारी का प्रसार करना ताकि अधिक से अधिक लोग इन सेवाओं का उपयोग कर सकें।
  • सूचना शिक्षा संचार गतिविधियों के माध्यम से स्वैच्छिक रक्तदान को भी प्रोत्साहित किया जाता है। युवाओं हेतु कार्यरत संस्थाओं जैसे एनसीसी,एनएसस, भारत स्काउट गाइड आदि के साथ समन्वय कर स्वैच्छिक रक्तदान को प्रोत्साहित किया जाता है।
  • इसके साथ ही सूचना शिक्षा संचार गतिविधियों का एक अन्य महत्वपूर्ण उद्देश्य है ’’एचआईवी संक्रमित एवं प्रभावित व्यक्तियों के प्रति होने वाले भेदभाव एवं कलंक को समाप्त करना।
  • सूचना शिक्षा संचार के अंतर्गत मास मीडिया, आउटडोर, मिड-मीडिया गतिविधियां आयोजित की जाती हैं।
  • युवा गतिविधियों के अंतर्गत महाविद्यालयों में रेडरिबन क्लब का गठन एवं संचालन उच्च शिक्षा विभाग एवं एन एस एस के सहयोग से किया जाता है।
  • इसके अतिरिक्त सोशल प्रोटेक्शन एवं मेनस्ट्रीमिंग के अंतर्गत विभिन्न विभागों के साथ समन्वय कर विभागीय प्रशिक्षण कार्यक्रमों में एच.आई.वी/एड्स विषय को सम्मिलि करना तथा विभाग की सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के माध्यम से एच.आई.वी संक्रमित एवं प्रभावित व्यक्तियों एवं उच्च जोखिम समूहों को लाभ दिलाने हेतु प्रयास किये जाते है।